mili review

Mili Review: एक आम लड़की के सपनों की कहानी है ‘मिली’, यहां जाने फिल्म की पूरी कहानी

मनोरञ्जन

यह फिल्म एक सर्वाइवल थ्रिलर है, यानी सर्वाइव और जीवित रहने के लिए संघर्ष करने की कहानी है। निर्देशक मतुकुट्टी जेवियर ने 2019 में ‘हेलन’ नामक एक मलयालम फिल्म बनाई, जिसने एक पुरस्कार भी जीता। ‘Mili’ उसी का हिंदी रीमेक है। जाह्नवी कपूर देहरादून में रहने वाली Mili नाम की लड़की का किरदार निभा रही हैं। उन्होंने नर्सिंग की पढ़ाई पूरी कर ली है और बेहतर भविष्य के लिए कनाडा जाना चाहती हैं।

उनकी मां नहीं है लेकिन पिता के साथ उनके रिश्ते घने दिखाए गए हैं। दोनों के बीच हमेशा प्रेम विवाद बना रहता है। एक रेस्तरा में काम करती है और एक रात अपने फ्रीजर रूम में अकेली रह जाती है। कमरे का तापमान लगातार गिर रहा है और बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं है।

Mili Review
Mili Review

कैसे वह खुद को कमरे से बाहर निकालने के लिए कई तरह से कोशिश करती है। इसके इर्द-गिर्द एक पूरी कहानी है। उनके पास एक प्रेम कहानी भी है जो साथ-साथ चलती है। पूरी फिल्म टेंशन से भरी हुई है। क्या Mili बच जाएगी या वह वहां जम जाएगी और मर जाएगी?

फिल्म के बीच में एक चूहा आता है जो थोड़ी देर के लिए Mili के साथ जाता है। उसके बदन की गर्माहट कुछ देर के लिए Mili के साथ रहती है। लेकिन कब तक? इस फिल्म को देखकर राजकुमार राव की कुछ साल पहले आई फिल्म ‘ट्रैप्ड’ की याद आ जाती है। लेकिन यह आशंका ‘Mili’ में ज्यादा है। इस बीच कुछ और घटनाएं भी हैं जो असली कहानी को आगे ले जाती हैं।

Mili Review
Mili Review

जैसे एक पुलिस वाला है जो बेहद दुखी है। Mili की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखने को तैयार नहीं है। के बॉयफ्रेंड समीर (सनी कौशल) का भी एक पर्सनल पहलू है जो धीरे-धीरे खुलता है। एक पिता और एक बेटी के बीच आत्मीय रिश्ते के कई लम्हे भी इसमें हैं।

फिल्म का म्यूजिक ए.आर. रहमान ने ऐसा दिया है जो दर्शकों के मन में उठ रहे संदेह को और गहरा करता है। फिल्म सीमित रुचि वाले दर्शकों के लिए है और इसमें कोई मसाला नहीं है। बीच-बीच में हंसी-ठिठोली होती है। जाह्नवी कपूर के पिता बोनी कपूर इस फिल्म के प्रोड्यूसर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *